0
loading...

*सत्यानारण भगवान* की कथा सभी ने सुनी जरूर होगी, आज उसका प्रसंग बस याद आ गया-

इस कथा में व्यापारी वैश्य से भगवान *श्री हरी* पूछते हैं कि तुम्हारी नौका में क्या है? वणिक जवाब देता है कि मेरी नौका में तो सिर्फ *फूल पत्ती और कपडे* हैं भगवान कहते हैं तथास्तु।

प्रधानमंत्री ने पूछा था तुम्हारी तिजोरी में क्या दबा पड़ा है ब्लैक मनी हो तो 30 सितम्बर तक घोषित कर दो और टैक्स चूका दो सब बोले नहीं नहीं हमारी तिजोरी में तो सिर्फ  ही *कागज़* है

*मोदी साहेब* बोले तथास्तु
लो हो गए कागज़ के टूकडे

*बोलो सत्यनारायण भगवान की जय*
🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏

...
loading...

Post a Comment

 
Top